window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'UA-264151987-1');

Haryana में इन लोगो के स्वत कटेंगे BPL Card, गुलाबी राशन कार्ड और बुढ़ापा पेंशन! सरकार ने बनाई नई योजना

Anil Biret
5 Min Read

Haryana BPL Card List: परिवार पहचान पत्र यानि फैमिली आईडी के वेरीफिकेशन में जहां कई परिवारों की पेंशन और अन्य सरकारी योजनाएं बंद हुई थीं वहीं अब बीपीएल श्रेणी से जुड़ने के लिए सालों से चक्कर काट रहे गरीब परिवारों के लिए राहत भरी खबर है।

अब उनको बीपीएल यानि पीला राशन कार्ड बनवाने के लिए कहीं धक्के खाने की जरूरत नहीं है। अगर फैमिली आईडी में उनके परिवार की इनकम एक लाख 80 हजार रुपये हैं तो वे अब बीपीएल राशन कार्ड धारक बन गए हैं।

सरकार ने स्वत: ही उनको बीपीएल परिवार मान लिया है। इसकी शुरूआत गुरुवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश में सिरसा और कुरुक्षेत्र जिला से कर दी है। सिरसा में अब फैमिली आईडी के आधार पर 49 हजार 900 परिवार नए बीपीएल राशन कार्ड के हकदार हो गए हैं। उन्हें विभाग अब खुद पीला राशन कार्ड जारी करेगी।

उन्हें अप्रैल महीने से ही राशन मिलना शुरू हो गया है। अब जिले में बीपीएल यानि पीला कार्ड धारकों की संख्या 1 लाख 20 हजार से बढ़कर 1 लाख 60 हजार के करीब पहुंच चुकी है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि अब प्रदेश में मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत प्रत्येक पात्र व्यक्तियों को विभिन्न सरकारी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ स्वत: ही मिलना शुरू हो गया है।

इस योजना के तहत सभी योजनाएं परिवार पहचान-पत्र से जोड़ी जा रही हैं। मुख्यमंत्री चंडीगढ में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम के दौरान वर्चुअल माध्यम से सभी जिलों में आयोजित कार्यक्रम से जुड़े हुए थे। उन्होंने कहा कि पीपीपी के माध्यम से व्यवस्था परिवर्तन में बड़ा बदलाव आएगा।

कम आय वाले परिवारों की होगी वेरिफिकेशन

जिला में जहां गरीब परिवारों को बीपीएल श्रेणी में जुड़ने का लाभ मिला है। वहीं ऐसे परिवारों को नुकसान भी हुआ है। जो बीपीएल ना होकर भी गरीब लोगों को मिलने वाली राशन सेवा का अब तक लाभ लेते आ रहे थे।

विभाग का दावा है कि फैमिली आईडी से की गई वेरीफिकेशन के आधार पर उनके पास 10 हजार परिवारों के नाम आए हैं।

जिनकी आय एक लाख 80 हजार रुपये से अधिक है। वे गरीबी रेखा से ऊपर होने के बाद भी बीपीएल कार्ड धारक बने हुए थे। उनके कार्ड अब काट दिए गए हैं।

वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि परिवार पहचान पत्र के तहत 1 लाख 80 हजार रुपये से कम आय वाले परिवारों की वेरिफिकेशन का कार्य चल रहा है। सर्वे में जिन परिवारों की आय ज्यादा होगी, उनके राशन कार्ड स्वत: ही कट गए हैं।

बिजली मंत्री ने लाभपात्रों को दिया राशन

सिरसा लघु सचिवालय के वीडियो काॅन्फ्रेंस कक्ष में आयोजित कार्यक्रम में हरियाणा के बिजली, अक्षय ऊर्जा एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने बतौर मुख्यअतिथि शिरकत की।

कार्यक्रम में बिजली मंत्री ने आयुष्मान भारत योजना, राशन कार्ड, वृद्धावस्था सम्मान भत्ता, परिवार पहचान पत्र योजनाओं के जिले से संबंधित 25-25 लाभपात्रों को मौके पर ही प्रमाण पत्र वितरित किए। इसके अलावा बिजली मंत्री ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राशन भी वितरित किया।

Whatsapp Join

डिपो पर परिवारों को दी जाएगी सूचना

मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के जरिए नए जुड़े 49900 बीपीएल परिवारों की सूचि डिपू होल्डरों को भेजी जाएगी। डीएफएससी सुरेंद्र सैनी ने बताया कि सभी पात्र परिवारों को इस संबंध में सूचित किया जाएगा और उनको अप्रैल महीने का राशन भी मिलेगा।

वहीं उन्होंने बताया कि शिकायत दर्ज करवाने के लिए भी पोर्टल खुलेगा। उसमें किसी का नाम गलत कटा है या जो पात्र है उसका जुड़ा नहीं है। वह शिकायत दर्ज करवा सकेगा।

अब 60 साल में अपने आप बन जाएगी बुढ़ापा पेंशन

इसी तरह अब बुढ़ापा पेंशन का लाभ लेने के लिए वार्षिक आय 2 लाख रुपये ही निर्धारित है। इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना से जुड़ने से जिला में बुजुर्ग सम्मान भत्ता योजना के करीब 31 व्यक्तियों की स्वत: ही वृद्धावस्था पैंशन जारी हुई है।

परिवार पहचान पत्र का सर्वे पूरा होने पर लाभपात्रों को स्वत: ही इस योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। इसके अलावा स्वरोजगार शुरू करने के इच्छुक 4 हजार 307 व्यक्तियों का बैंक ऋण के लिए सर्वे किया जा चुका है तथा अबतक 737 का ऋण स्वीकृत हो चुका है।

Share this Article
Leave a comment