window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'UA-264151987-1');

Haryana Roadways Bus में अब ड्राइवर व कंडक्ट की मनमानी, सरकार ने जारी किया New आदेश

Anil Biret
3 Min Read

Haryana Roadways Bus: हरियाणा रोडवेज की बसों के पीछे अक्सर तरह-तरह के स्लोगन लिखे दिखाई देते हैं। चालक व परिचालकों ने अपनी मनमर्जी से स्लोगन लिखवाए हुए हुए हैं। इस पर संज्ञान लेते हुए परिवहन विभाग ने सभी रोडवेज महाप्रबंधकों को निर्देश दिए हैं कि बसों पर कर्मचारियों द्वारा लिखवाए गए स्लोगनों को तुरंत प्रभाव से हटाया जाए। खासकर अंतरराज्यीय रूटों पर जाने वाली बसों के पीछे लिखे गए स्लोगनों की जांच की जाए।

यदि किसी बस के पीछे स्लोगन लिखा मिलता है तो संबंधित चालक व परिचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाए। परिवहन निदेशक ने बसों के पीछे लिखे गए स्लोगनों को तुरंत प्रभाव से हटाकर तीन दिन में रिपोर्ट मुख्यालय भेजने के लिए कहा गया है।

गबन माना जाएगा मैन्युअल टिकट

वहीं, बुकिंग शाखा को सूचित किए बिना बसों में मैन्युअल टिकट काटना गबन माना जाएगा। कई रोडवेज डिपुओं की बसों में ई-टिकटिंग शुरू हो चुकी है। मगर ई-टिकटिंग मशीन में कई बार परिचालकों को तकनीकी खराबी का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में परिचालक मैन्युअल टिकट काटना शुरू कर देता है।

उड़नदस्तों द्वारा की जा रही जांच में सामने आया है कि कुछ परिचालकों द्वारा बुकिंग शाखा को सूचित किए बिना मैन्युअल टिकट काटी जाती हैं, जोकि गबन की श्रेणी में आता है। यदि किसी कारणवश ई-टिकटिंग मशीन में खराबी आती है तो परिचालक को तुरंत इसकी सूचना बुकिंग शाखा को देनी होगी। बुकिंग शाखा से अनुमति मिलने के बाद ही मैन्युअल टिकट काटी जाएगी।

बुकिंग शाखा को विभाग ने दी हिदायत

विभाग की ओर से यह भी हिदायत जारी की गई है कि बुकिंग शाखा बाकायदा रजिस्टर में अंकित करे कि मशीन किस स्टैंड पर खराब हुई। परिचालक का नाम व नंबर सहित मशीन खराब होने का कारण दर्ज किया जाए। बुकिंग शाखा में पहुंचने पर परिचालक के हस्ताक्षर करवाए जाएंगे। इसके साथ ही चेकिंग स्टाफ को भी निर्देश दिए गए हैं कि चेकिंग के दौरान यदि मैन्युअल टिकट मिलती है तो उसकी सूचना बुकिंग शाखा में फोन करके लें कि परिचालक द्वारा इस संबंध में सूचित किया गया है या नहीं।

Share this Article
Leave a comment